Mahabhulekh Land Records Online In Hindi | Maha Bhu Lekh 7/12 Satbara Online 2020

Are you looking for the Maharashtra Bhu Lekh Satbara 7/12 Online? If yes then you arrived on right page. From here, you can get complete details about Maharashtra Mahabhulekh Online 2020. Also, we will tell you about how to check Mahabhulekh satbara 7/12 Online. Hence, scroll down the page and get complete details about Mahabhulekh satbara Record.

महाराष्ट्र भूमि आलेख – जमाबंदी – खतियान – खसरा – खतौनी जानकारी ऑनलाइन

महाराष्ट्र सरकार की तरफ से एक अनूठी पहल की गयी है। उत्तर प्रदेश सरकार ने फैसला लिया है की वे महाराष्ट्र राज्य के भूमि की पूर्ण जानकारी ऑनलाइन करने जा रहे है। अब आपको अपनी जमीन की जानकारी के लिए किसी सरकारी दफ्तर में जाने की जरूरत नहीं है क्योकि आप अब अपनी जमीं की पूर्ण जानकारी इंटरनेट से पा सकते है।

आप अपनी जमीन की जमाबंदी – खतियान – खसरा – खतौनी आदि जानकरी इंटरनेट से पा सकते है। अब आपको राजस्व भूमि सुधार विभाग भूमि संसाधन विभाग के पास जाने की जरूरत नहीं है क्योकि आप अब पूर्ण जानकारी घर बैठे पा सकते है। भूलेख दो शब्दो का मिश्रण है भू + आलेख। भू का मतलब है भूमि और आलेख का अर्थ लेख या कागजी लिखवाई से सम्बन्धित है।

महाराष्ट्र भूमि अभिलेख ऑनलाइन महाभूलेख (7/12 सातबारा उतरा)

महाराष्ट्र राज्य के लोग अपनी जमाबंदी ऑनलाइन घर बैठे देख सकते है। आप अपनी भूमि या खेत की जमाबंदी की नक़ल और खसरा नंबर का नक्शा अब आपको घर बैठे प्राप्त हो जाएगा मतलब आप इसे घर बैठे देख सकते है। भूलेख का सही मतलब यह है की भूमि से सम्बंधित पूर्ण लिखित जानकारी।

आमतौर पर लोग अपनी भूमि की जानकारी के लिए पटवारी के पास जाते है क्योकि भूमि की पूर्ण जानकारी पटवारी के पास होती है। भूलेख में आपकी जमीन का विवरण, मालिकाना हक़ की जानकारी मिलती है। भूलेख का उपयोग अलग अलग सरकारी योजनाओ, फसल बिमा और बैंक लोन प्राप्त करने के लिए होता है।

इसके आलावा भूलेख का उपयोग खेती बाड़ी से जुडी योजनाओ का लाभ प्राप्त करने के लिए होता है जैसे प्रधान मंत्री फसल बिमा योजना और किसान क्रेडिट कार्ड इत्यादि। परिवार के बटवारे के समय भूमि का उचित रूप से निपटारा करने के लिए भी भूलेख की आवश्यकता होती है।

महाराष्ट्र भूमि आलेख Online

नामभुआलेख
आधिकारिक साइटhttp://mahabhulekh.maharashtra.gov.in/
उद्देश्यमहाराष्ट्र राज्य में सातबारा,और जमीन सम्बंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए
साइट का निर्मातानेशनल इन्फार्मेटिक्स सेंटर (एनआईसी) और महाराष्ट्र रिवेन्यु डिपार्टमेंट

भूलेख की जानकारी कहा मिल सकती है?

जैसा की हमने आपको ऊपर भी बताया था की महाराष्ट्र सरकार ने भूलेख ऑनलाइन कर दिया है। इसलिए इच्छुक लोग अपनी भूमि की जानकारी पाने के लिए ऊपर दी गयी वेबसाइट पर जा सकते है।

वेबसाइट का लिंक हमने ऊपर की टेबल में उपलब्ध करवा दिया है। इससे पहले आप आधिकारिक साइट पर जाए हम आपको बताना चाहते है है की आपको यहाँ से आपको पूर्ण जानकारी ले लेनी चाहिए।

बिना पूर्ण जानकारी के आपको वहा कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए पहले यहाँ से पूर्ण जानकारी एकत्रित कीजिये उसके बाद अपनी भूमि की जानकारी चेक कीजिये।

What is Land Record?? भूलेख क्या होते है?

1.जमीन पर अधिकारी, जमीन का पंजीकरण, अधिकारी रिकॉर्ड, फसल निरिक्षण के रजिस्टर और किरायेदारी से सम्बंधित जानकारी भूलेख में सुरक्षित होती है। इसके आलावा भूलेख में जमीन के साइज, जमीन की मिट्टी की प्रिवव्रती, फसलों से सम्बंधित भूमि और फसल वाली भूमि की आर्थिक जानकारी भी शामिल की जाती है।
2.जमीन/भूमि अभिलेख एक औपचारिक कागज है जिसमें भूमि के अधिकारों का रिकॉर्ड और पंजीकरण का रिकॉर्ड, किरायेदारी सरकारी अफसर द्वारा शामिल किये जाते है। फसल निरीक्षण रजिस्टर, उत्परिवर्तन रजिस्टर, विवादित मामले रजिस्टर आदि भी महाराष्ट्र भूमि आलेख में शामिल किये जाते हैं। इसमे मिट्टी के प्रकार और आकार के बारे में भूवैज्ञानिक जानकारी भी शामिल की जाती हैं। महाराष्ट्र भुआलेख में सिंचाई और फसलों से संबंधित भूमि और आर्थिक जानकारी दी जाती हैं। हाल ही में महाराष्ट्र सरकारी द्वारा भूलेख को ऑनलाइन कर दिया गया है। इसलिए आपका इसके बारे में जानना बहुत आवश्यक है।
3.भारत के विभिन्न राज्यों में भूलेख को अलग अलग नाम से जाना जाता है जैसे की भुलेख,भू अभिलेख,भूमि अभिलेख,ख़त,खसरा,खातौनी,सातबारा (7/12),पट्टा,चिट्टा, रिकार्ड्स ऑफ़ राईट (आरओआर) ,अडंगल,पहनी, टेनेन्सी एंड क्रॉप इंस्पेक्शन (आरटीसी) आदि ।

सातबारा का उद्देश्य – Purpose of satbara (7/12)

सातबारा (7 /12 ) आखरी समय लगाई गयी फसल, खेती के प्रकारी चाहे सिंचित हो या बारिश द्वारा सिंचित हो, जमीन का क्षेत्र, खेती का और उसके मालिक का नाम, भूमि की सर्वेक्षण संख्या आदि की जानकारी देता है। सरकारी विभागों द्वारा (7 /12 ) में भूमि के मालिकों को दिए गए लोन का रिकॉर्ड भी रखा जाता है।

सरकारी विभागों द्वारा इसमें सीड खरीदना, फर्टीलिज़ेर या पेस्टीसाइज़, या किसी भी कारण से कल्टीवेटर और भूमि के मालिक को दिए गए लॉन का रिकॉर्ड रखना होता है। भूमि के मालिकाना हक़ से सम्बंधित सभी दस्तावेज सतबारा के माध्यम से तैयार किये जाते है।

When is the need of Satbara – सातबारा की कबकब जरूरत होती हैं

1.सतबारा किसी भी जमीन के मालिकाना हक़ का प्रमाण होता है। जमीन की खरीद बेच में इसका महत्वपूर्ण योगदान होता है। इसके बिना आप अपनी जमीन नहीं बेच सकते। इसके द्वारा हम जमीन विक्रेता के बैकग्राउंड और सचाई का पता भी आसानी से लगा सकते है। जैसा की आप जानते है की अब इसको ऑनलाइन कर दिया गया है इसलिए आपको अब किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।
2.बैंक से लोन लेते समय भी इसका आवश्यकता होती है इसके बिना आप अपनी जमीन पर लोन भी नहीं ले सकते। जमीन बेचने के बाद सब रजिस्ट्रार के ऑफिस में सातबारा की आवश्यकता होती है। इन्ही सभी परेशानिओ के हल निकालने के लिए राज्य सरकार ने यह बड़ा कदम उठाया है और सातबारा को ऑनलाइन कर दीया है।
3.कई बार निजी कारणों के कारण भी भूलेख/सातबारा की आवश्यकता पड़ जाती है। अगर आपका कोर्ट में नागरिक मुकदमा है तो भी आपको इसकी जरूरत पड़ेगी। मुकदमे के दौरान इसको कोर्ट में जज के सामने पेश करना होता है और जमा करवाना पड़ता है। पहले सातबारा को निकलवाने के लिए कई कई दिन लग जाते थे। लेकिन अब आप इसे कुछ ही मिंटो में घर बैठे देख सकते है। लेख को ध्यान से पढ़ते रहिये क्योकि हम अब बताने जा रहे है की इसे ऑनलाइन कैसे देखा जाता है।

7/12 में निम्न प्रकार की जानकारी दी होती है।

1.स्वामित्व विवरण
2.भूमि क्षेत्रफल
3.फसल विवरण
4.ऋण
5.LEASE
6.स्टे आर्डर आदि विवरण
7.सरकार ने महाभुलेख की वेबसाइट को 6 भागो में बाटा है, नागपुर, नासिक, पुणे, कोंकण, अमरावती, औरंगाबाद।

How to Check Maharashtra Maha Bhulekh Online Land Records 2020 – महाभूलेख महाराष्ट्र महाभूलेख सातबारा-ऑनलाइन लैंड रिकार्ड्स कैसे चेक करे?

7/12 ऑनलाइन लैंड रिकॉर्ड चेक करने के लिए आपको निचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करना होगा।

  • सबसे पहले आपको ऑफिसियल साइट http://mahabhulekh.maharashtra.gov.in/ पर जाना होगा।
  • आधिकारिक साइट खुलने के बाद आपके सामने मैप आ जायेगा और आपको 6 में से एक शहर को चुनना होगा कोंकण, औरंगाबाद, अमरावती, नागपुर नासिक और पुणे।
  • आप सीधे मैप पर क्लिक करके भी देख सकते है और अगर आपको यह तरीका समझ न आये तो एक एक करके भी देख सकते है।
  • सबसे पहले विभाग का चयन कीजिये और इसके बाद आपको अपने जिले का चयन करना होगा।
  • इसके बाद अपने गांव का चयन कीजिये।
  • गांव का चयन करने के बाद आपके सामने बहुत से ऑप्शन आ जायेंगे जैसे की सर्वे नम्बर, गेट नम्बर,पाहिले नव,मधील नव,सम्पूर्ण नव आदि।
  • आपको जिस भी चीज की जानकारी चाहिए उसके अनुसार ऑप्शन का चुनाव कीजिये और उसके बाद आप ओनर का नाम,लैंड टाइप,एरिया और लीज,स्टे ऑर्डर आदि देखने में सक्षम होंगे।

जिले के अनुसार 7/12 उतरा प्राप्त करने के लिए निचे दिए गए लिंक्स का प्रयोग कर सकते है

जिले का नामऑनलाइन चेकिंग लिंक
अमरावतीCheck Here
अहमदनगरSee here
अकोलाCheck Now
औरंगाबादSee Now
बीडOpen Here
भंडाराCheck Here
बुलढाणाOpen Now
चंद्रपुरCheck Here
धुलेSee here
गडचिरोलीCheck Now
गोंदियाSee Now
हिन्ग्लोइयाOpen Here
जालनाCheck Here
जलगांवOpen Now
कोल्हापुरCheck Here
लातूरSee here
नागपुरCheck Now
नांदेड़See Now
नंदुरबारOpen Here
नासिकCheck Here
परभानीOpen Now
पुणेCheck Here
रायगढ़See here
रत्नागढ़Check Now
सांगलीSee Now
सताराOpen Here
सिंधु दुर्गCheck Here
शोलापुरOpen Now
ठाणेCheck Here
उस्मानाबादSee here
वर्धाCheck Now
वाशिमSee Now
यवतमालOpen Here

7 / 12 की मुख्य विशेषताए

जैसा की हमने आपको ऊपर भी बताया है की इसकी मदद से महाराष्ट्र राज्य के लोग अपनी जमीन की पूरी जानकारी घर बैठे पा सकते है। 7/12 भूलेख के आ जाने के बाद अब आपको सरकारी दफ्तर के चक्र लगाने की जरूरत नहीं है।

इसके आलावा आप यह भी पता लगा सकते है की कौन सी जमीन किस व्यक्ति के नाम पर है और कौन सी जमीन सरकारी है। इसके द्वारा म्यूटेशन एंट्री भी आटोमेटिक हो जाती है। इसका मतलब है की अगर आपको कोई जमीन खरीदनी है तो आप उस धरती से सम्बंधित पूरी जानकारी घर बैठे एक क्लिक के माध्यम से पा सकते है।

पहले 7/12 की कॉपी प्राप्त करना बहुत मुश्किल काम था। इसे प्राप्त करने के लिए आवेदन पत्र भरना पड़ता था और इसके लिए तालाठी भी जाना पड़ता था। आवेदन पत्र भरने के बाद उसकी समीक्षा की जाती थी तब जाकर सातबारा की कॉपी दी जाती थी। अब इसकी कॉपी पाना महाराष्ट्र राज्य में बहुत आसान हो गया है।